गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह की मृत्यु पर गरमाई बिहार की राजनीति

देश के महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह (Vashistha Narayan Singh) की मृत्यु के बाद हुए व्यवहार के कारण बिहार की नितीश सरकार निशाने पर आ गई है।

0
84
Vashistha Narayan Singh

देश के महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह (Vashistha Narayan Singh) की मृत्यु के बाद हुए व्यवहार के कारण बिहार की नितीश सरकार निशाने पर आ गई है। बिहार में RJD (राष्ट्रीय जनता दल) के अध्यक्ष और बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव ने राज्य की नीतीश सरकार पर दिवंगत सिंह के पार्थिव शरीर के साथ अमर्यादित बर्ताव करने का आरोप लगाया है।

दिल्‍ली में ऑड-ईवन का आज आखिरी दिन, प्रदूषण का स्तर 700 पार

लालू प्रसाद यादव ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए वशिष्ठ नारायण सिंह (Vashistha Narayan Singh) की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया।  साथ ही उन्होंने ट्वीट कर कहा कि , “कल बिहार गौरव और हमारी साँझी धरोहर महान गणितज्ञ आदरणीय डॉ. वशिष्ठ नारायण सिंह जी के निधन की ख़बर सुनकर बहुत दुःख हुआ। मौत सबको एक ना एक दिन आनी ही है लेकिन मरणोपरंत जिस प्रकार उनके पार्थिव शरीर के साथ असंवेदनशील नीतीश सरकार द्वारा जो अमर्यादित सलूक किया गया वह अतिनिंदनीय है।”

Vashistha Narayan Singh

लालू प्रसाद यादव ने एक के बाद एक 3 ट्वीट किए और नितीश सरकार पर वशिष्ठ नारायण सिंह के साथ दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया। लालू ने लिखा कि, “क्या बड़बोली डबल इंजन सरकार उस महान विभूति को एक ambulance तक प्रदान नहीं कर सकती थी? मीडिया में बदनामी होने के बाद क्या किसी के पार्थिव शरीर को सड़क बीच रोककर उसे श्र्द्धांजलि देना एक मुख्यमंत्री को शोभा देता है? क्या अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान CM उन्हें कभी देखने गए?”

Vashistha Narayan Singh

साथ ही लालू यादव ने ये भी कहा कि,”हमारे कार्यकाल में मैंने उनका अच्छे से अच्छे अस्पताल में इलाज करवाया। उनकी सेवा करने वाले पारिवारिक सदस्यों को सरकारी नौकरी दी, ताकि वो पटना में उनकी अच्छे से देखभाल कर सकें।महान गणितज्ञ आदरणीय डॉ. वशिष्ठ बाबू को कोटि-कोटि नमन और विनम्र श्र्द्धांजलि।”

Vashistha Narayan Singh

बता दें कि महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण (Vashistha Narayan Singh) का निधन गुरुवार को हो गया था। जानकारी के मुताबिक उनकी मृत्यु के बाद सिंह का पार्थिव शरीर एम्बुलेंस  के इंतजार में अस्‍पताल के बाहर एक घंटे तक रखा रहा था। हालांकि मीडिया में सुर्खियां बनी तो पीएमसीएच के अधीक्षक ने इस गलती  को माना। मगर इस मुद्दे  पर बिहार की सियासत गरमा गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here