वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने दिया DDCA के अध्यक्ष पद से इस्तीफा

वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने शनिवार को DDCA यानि के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। रजत शर्मा ने अपने ट्वीटर अकाउंट के जरिए इस बात की जानकारी दी है।

0
87
DDCA

वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने शनिवार को DDCA यानि के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। रजत शर्मा ने अपने ट्वीटर अकाउंट के जरिए इस बात की जानकारी दी है। गौरतलब है कि वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा इसी वर्ष जुलाई में डीडीसीए के अध्यक्ष बने थे। रजत शर्मा का क़रीब 20 महीने का ये कार्यकाल काफ़ी उतार-चढ़ाव भरा रहा।

अब दिल्ली के दम घोंटू वातावरण से लोगों को मिलेगी निजात

 

DDCA

रजत शर्मा ने इस्तीफा देने के बाद ट्वीटर पर लिखा कि,”आज मैंने अपना इस्तीफा अध्यक्ष, डीडीसीए के पद से दे दिया है और इसे सर्वोच्च परिषद को भेज दिया है। मैं अपने कार्यकाल के दौरान आपके समर्थन, सम्मान और स्नेह के लिए आप सभी को धन्यवाद देता हूं। दिल्ली क्रिकेट को मेरी शुभकामनाएं।”

DDCA

 

वहीं रजत शर्मा ने दूसरा ट्वीट कर कहा कि,”प्रिय सदस्यों ,जबसे आपने मुझे DDCA का अध्यक्ष चुना है।  मैं समय समय पर आपको अपने काम के बारे में जानकारी देता रहा हूँ। मैंने DDCA को बेहतर बनाने के लिए, प्रोफ़ेशनल और पारदर्शी बनाने के लिए जो कदम उठाये उसके बारे में आपको बताया। आपसे किए गए वादों के पूरा होने की जानकारी दी।”

DDCA

साथ ही उन्होंने कहा कि,”यहाँ काम करना आसान नहीं था, लेकिन आपके विश्वास ने मुझे ताक़त दी। आज मैंने  डीडीसीए का अध्यक्ष पद छोड़ने का फ़ैसला किया है और अपना इस्तीफ़ा एपेक्स काउंसिल को भेज दिया है। आपने जो प्यार और सम्मान मुझे दिया है उसके लिए आपका आभार।”

बता दें कि वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने DDCA का अध्यक्ष रहते हुए दिल्ली के फिरोजशाह कोटला का नाम बदलकर अरुण जेटली स्टेडियम रखने का प्रस्ताव दिया था, जिसे मंजूरी भी मिली। कहा जाता है कि रजत शर्मा और दिवंगत पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली अच्छे दोस्त थे और अरुण जेटली के सहयोग से ही वो क्रिकेट प्रशासन में शामिल हुए। मगर जेटली के निधन के बाद रजत  पकड़ संस्था में कमजोर हो गई थी। वहीं जनरल सेक्रेटरी विनोद तिहारा एक साथ भी उनके सार्वजनिक तौर पर मतभेद रहे।

जानकारों की माने तो बाकी निदेशकों ने प्रस्ताव पास करके उनकी शक्तियां छीन ली थीं। ऐसे में डीडीसीए में उनका काम ज्यादा रह नहीं गया था। उनके इस्तीफे के पीछे इसे भी बड़ा कारण माना जा रहा है।

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here